What is Domain Name & Benefit of Custom Domain Name In Hindi?

what is domain name and benefit of custom domain name

Hello दोस्तों आज मैं आपको इस Article के माध्यम से बताना चाहूंगा की आपके Blogging करियर और आपके Blog या Website के लिए एक Domain Name कितनी अहम भूमिका निभाता है और जब आप एक Domain Name को खुद के Website के लिए खरीदतें हैं या Resister(रजिस्टर) करतें हैं तो वो Domain Name आपने लिए आपका Custom Domain Name हो जाता है। 

हमेशा से ही जब एक नया Blogger अपनी Blogging जर्नी की शुरुआत एक फ्री के  Sub-Domain के साथ शुरू करता है जैसे :-  blogspot.com या wordpress.com  

ये एक सुरक्षित तरीका है Blogging का लेकिन अगर आप केवल सिखने के लिए  कर रहें हैं तो ठीक है और अगर आप सोच रहें हैं की आप फ्री के Sub-Domain  के साथ अपने करियर को एक अच्छे लेवल तक ले सकतें हैं तो ये आपकी एक बड़ी गलती हो सकती है। 

जो लोग Blogging से पैसे कमाना चाहतें हैं , उनके लिए सबसे अच्छा तरीका है Self-Hosted Blog(सेल्फ-होस्टेड-Blog) या आप Google के फ्री Platform(प्लेटफार्म) , Blogger के फ्री Sub-Domain और फ्री Hosting का इस्तेमाल कर सकतें हैं। 

आप चाहें तो Blogger पर Blog बनाकर उसे Google Adsense के द्वारा अपने Blog को Monetize करा कर उससे पैसे भी कमा सकतें हैं लेकिन अगर आप अपनी Blogger की Website के साथ एक Custom Domain Name को लिंक करदें दो बाद में जब आपके पास पैसे आपने लगेंगे तो आप अपने Blogger की Website को Wordpress या किसी और अच्छे प्लेटफार्म पर लेकर जा सकतें हैं वो बिना अपने पुराने Domain Authority(DA) और Page Authority(PA) खोये बिना।

जब आप अपने किसी Blog को Blogger या Wordpress.com पर बनातें हैं तो आपको आपको एक Sub-Domain मिलता है जैसे : blogname.blogspot.com  या blogname.wordpress.com 

आप सिखने के लिए मुफ्त की किसी भी Sub-Domain का उपयोग  कर सकतें हैं लेकिन आप सोचेंगे की मैं एक फ्री के Sub-Domain से अपने Blog को पॉपुलर कर पाओगे तो आप यहां गलत हो। 

क्योंकि जब आप उस Sub-Domain पर वर्षों तक Blogging करते रहतें हैं और उस पर अधिक ट्रैफिक आने  लगेगा उसके बाद आप अपने लिए एक Custom Domain Name लोगे और उसपर काम करोगे तो आपको अपने Custom Domain Name का DA & PA बढ़ाने में और अपने नए Blog पर ट्रैफिक लेन में आपको फिर से उतना समय लगाना होगा। 



What is Domain Name? Domain Name क्या है?

what is domain name

आम भाषा में कहा जाये तो Domain Name आपकी इंटरनेट प्रॉपर्टी(Blog/Website) का पता है जिसके माध्यम से कोई भी आपके Blog पर जा सकता है  और अगर इंटरनेट की भाषा में कहें तो Domain Name आपके Website या Blog का Web address(Url) है। 


Type Of Domain Name

1.  TLD - Top Level Domain 

Top Level Domain को तब बनाया गया था जब इंटरनेट की शुरुआत हुई थी। अगर आपके पास Top Level Domain है तो जल्दी से Search Engine के result में ranking पा सकतें हैं क्योंकि सभी Search Engine  लोग TLD को ज्यादा महत्व देते हैं। 

Top Level Domain के Examples

.com (commercial)
.net (network)        
.org(organization)  
.gov(government)  
.edu(educational)   
इत्यादि (etc)


2. ccTLD - Country Code Top Level Domain 

अगर आप किसी एक देश को टारगेट करना चाहते हो तो आपके लिए ऐसे Domain Name सबसे अच्छे होंगे। इसका को Extention होता है वो आपकी country(देश) को दर्शाता है जैसे:-

.in (India)                            
. gb (Greate Britain)           
.au (Australia)                     
.us (United State America) 
 etc(इत्यादि)


3. Sub-Domain Name 

Sub-Domain क्या है?- Sub-Domain आपके मेन Domain का एक पार्ट होता है। 

जैसे blogspot.com एक Domain Name है पर जब आप कोई अपना नया Blog Blogger पर बनाते हो तो वो आपको अपना एक Sub-Domain देता है जैसे :-myblog.blogspot.com 



Custom Domain के बिना हानि 

1. जब आप अपने Sub-Domain पर काफी समय से काम कर रहें हों और उसपर आप बहुत सारे ट्रैफिक ला रहें हैं तो आपके Blog का कुछ DA(Domain Authority) और PA(Page Authority) बन जाता है लेकिन जब आप अपने Sub-Domain को छोड़कर किसी Custom Domain पर जातें हैं तो आप अपने Blog का DA & PA खो देंगे और आपका DA & PA फिर से 0(Zero) हो जायेगा। 

2. जब आप फ्री Domain से Custom Domain पर जायेंगे तो आपके नए Web address को फिर से Search Engine में सबमिट करना पड़ेगा और आपके नए Blog को Search Engine में rank करने के लिए फिर से मेहनत करनी पड़ेगी। 

3. आपको अपने Blog के Sitemap को सभी Search Engine में Submit करना होगा। 

4. आपके नए Domain के Blog में फिर से Google Analytics को जोड़ना होगा। आप चाहे तो आपने पुराने Analytic Code का इस्तेमाल कर सकतें हैं या फिर एक नए  Analytic Code का इस्तेमाल भी कर सकतें हैं। 

5. आपको फिर से अपने Social Media पर फिर से अपने Blog के Url को अपडेट करना पड़ेगा और अपने Domain के लिए फिर से मार्केटिंग करनी पड़ेगी और अपने Custom Domain Name को फिर से एक Brand बनाने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी। 


 Custom Domain के लाभ 

1. Custom Domain Name याद रखने , लिखने और किसी को बताने में आसान होता है क्योंकि Custom Domain Name किसी Sub-Domain से छोटा होता है। 

2. आपका Custom Domain Name किसी भी Saerch Engine में ranking के मामले में किसी Sub-Domain  मुकाबले ऊपर rank करेगा क्योंकि कोई भी Search Engine , .blogspot.com या  .wordpress.com डोमेन के बजाय Root Domain के Link को prefer करता है। 

3. एक Custom Domain Name होने की वजह से आपके Adsense Account , Approve होने की संभावना बढ़ जाती है। 

4. Custom Domain Name सभी users के लिए एक ट्रस्टेड लिंक बन चूका है और Custom Domain Name होने से आपका Blog प्रोफेशनल लगता है। 

5. Custom Domain Name होने से आप अपने Blog को आसानी से किसी एक Hosting से दूसरी Hosting पर जा सकतें हैं। 

6. सबसे महत्वपूर्ण है आपकी Blog/Website की Branding (ब्रांडिंग) | अगर आपके पास Blog के शुरू से ही एक Custom Domain Name होता है तो आपके पास Blogging के पहले दिन से ही आपका Brand आपके पास होता है। 

यहाँ मैंने कुछ Point बताया है जिसे आपने अपने Custom Domain Name लेते समय ध्यान में रखियेगा जिससे आप अपने लिए एक अच्छा Domain Name लें सकें  .... 

  • Domain Name बड़े के बजाय छोटा चुनें। 
  • Domain Name की spealling आसान रखें। 
  • इत्यदि (etc).... 
और जानने  लिए पढ़े  ......आप अपने Blog के Sitemap को इस तरिके से Google Search Engine में Submit कर सकतें हैं। 

Post a Comment

0 Comments